You are here
केले खाने से पहले बरतें सावधानी……  जानिये फायदे और नुकसान…! Health 

केले खाने से पहले बरतें सावधानी…… जानिये फायदे और नुकसान…!

 

केले खाते समय सावधान
30/- से 40/- रु डज़न इस दर से मृत्यु बेची जा रही है. सबसे विनती है कि सावधान रहें .
हम सभी केले पसंद करते हैं और इनका भरपूर स्वाद उठाते हैं परंतु अभी बाज़ार में आने वाले केले कार्बाइडयुक्त पानी में भिगाकर पकाए जा रहे हैं , इस प्रकार के केले खाने से 100% कॅन्सर या पेट का विकार हो सकता है. इसलिए अपनी बुद्धि का इस्तेमाल करें और ऐसे केले ना खाएँ .
परंतु केले को कार्बाइड का उपयोग करके पकाया है इसे कैसे पहचानेंगे :-
यदि केले को प्राकृतिक तरीके से पकाया है तो उसका डंठल काला पड जाता है और केले का रंग गर्द पीला हो जाता है . कृपया नीचे दिए फोटो को देखें साथ ही केले पर थोड़े बहुत काले दाग रहते हैं . परंतु यदि केले को कारबाइड का इस्तेमाल करके पकाया गया है तो उसका डंठल हरा होगा और केले का रंग लेमन यलो अर्थात नींबुई पीला होगा इतना ही नही ऐसे केले का रंग एकदम साफ पीला होता है उसमे कोई दाग धब्बे नहीं होते कृपया नीचे दिए फोटो को देखें.
कारबाइड आख़िर क्या है , यदि कारबाइड को पानी में मिलाएँगे तो उसमें से उष्मा (हीट) निकलती है और अस्यतेलएने गॅस का निर्माण होता है जिससे गाँव देहातों में गॅस कटिंग इत्यादि का काम लिया जाता है अर्थात इसमें इतनी कॅलॉरिफिक वॅल्यू होती है की उससे एल पी गी गॅस को भी प्रतिस्थापित किया जा सकता है . जब किसी केले के गुच्छे को ऐसे केमिकल युक्त पानी में डुबाया जाता है तब उष्णता केलों में उतरती है और केले पक जाते हैं , इस प्रक्रिया को उपयोग करने वाले व्यापारी इतने होशियार नहीं होते हैं कि उन्हें पता हो की किस मात्रा के केलों के लिए कितने तादाद में इस केमिकल का उपयोग करना है बल्कि वे इसका अनिर्बाध प्रयोग करते हैं जिससे केलों में अतिरिक्त उष्णता का समावेश हो जाता है जो हमारे पेट में जाता है जिससे कि :-


1. पाचन्तन्त्र में खराबी आना शुरू हो जाती है , 2. आखों में जलन , 3. छाती में तकलीफ़ , 4. जी मिचलाना , 5. पेट दुखना , 6. गले मैं जलन , 7. अल्सर , 8. तदुपरांत ट्यूमर का निर्माण भी हो सकता है .


इसीलिए अनुरोध है की इस प्रकार के केलों का बहिष्कार किया जाए , इसी तरीके से आमों को भी पकाया जा रहा है परंतु जागरूकता से महाराष्ट्र में इस वर्ष लोगों ने कम आम खाए तब जा के आम के व्यापारियों की आखें खुली , अतः यदि कारबाइड से पके केलों और फलों का भी हम संपूर्ण रूप से बहिष्कार करेंगे तो ही हमें नैसर्गिक तरीके से पके स्वास्थ्यवर्धक केले और फल बेचने हेतु व्यापारी बाध्य होंगे अन्यथा हमारा स्वास्थ्य ख़तरे मैं है ये समझा जाए 

 

 

केले खाने के फायदे

1. चेहरे की सबसे बड़ी समस्‍याओं में से एक है एक्‍ने. अगर आपको अक्‍सर ही इससे दो चार होना पड़ता है तो आप केले के छिलके का इस्‍तेमाल जरूर करके देखें.

 

2. अगर आप अक्‍सर ही तनाव में रहते हैं तो एक ग्‍लास पानी में केले के छिलके डालकर गर्म करें और इस पानी को पिएं. ऐसा करने से आपको बहुत आराम मिलेगा. रिसर्च का मानना है कि ये ड्रिंक दिल को भी मजबूत बनाती है.

3. ज्‍यादा टाइट कपड़े पहनने से और कई बार गर्मियों के मौसम में बॉडी पर रेशैज पड़ जाते हैं. ऐसी समस्‍या होने पर केले के छिलके को रेशैज पर मलें. आपको फर्क ख्‍ाुद ही नजर अाएगा.
4. शू पॉलिश खत्‍म हो गई है और आपको मीटिंग के लिए निकलना है तो चिंता की कोई बात ही नहीं है. केले के छिलके से जूतों को चमकाएं और निकल पड़ें अपनी मंजिल पर.
5. कई बार बर्तन साफ क‍रते समय या फिर कपड़े धुलते समय उंगलियों के अास पास की स्किन निकल जाती है जो बहुत ज्‍यादा दर्द देती है. इस दर्द से बचने के लिए केले के छिलके को उस जगह पर टेप की सहायता से लगाकर छोड़ दें. ऐसा करने से फटी हुई स्किन खुद हट जाएगी.
6. केले के छिलके के अंदर वाले भाग को दांतों पर रगड़ने  से इनका पीलापन दूर होता है और ये चमकदार बनते हैं.
7. अगर आप मस्‍सों से परेशान हैं तो केले के छिलको को उसके ऊपर रखकर टेप लगाकर छोड़ दें. कुछ दिन ऐसे ही करने से मस्‍से की समस्‍या से छुटकारा मिल जाएगा.
8. पौधों की पत्तियों को चमकाने में भी आप केले के छिलके का इस्‍तेमाल कर सकते हैं.
9. अगर आपको बागवानी का शौक है तो केले छिलके आपके पौधों के लिए अच्‍छी खाद्य का काम कर सकते हैं.
10. इन सब नुस्‍खों को आजमाने के बाद आप इन्‍हें रेसिपीज बनाने में भी उपयोग करते सकते हैं. इससे कई तरह के लजीज व्‍यंजन भी बनाए जा सकते हैं.

 

Related posts

Leave a Comment